सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात है जब टेस्ला ने अपना ऑटोमेटिक ड्राइविंग सिस्टम जोकि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से काम करता है इसे लांच किया था। इसमें गाड़ी खुद-ब-खद सेंसस के मदद से डिटेक्ट कर लेती है कि उसको कितनी स्पीड में चलना है और कौन सी लेन (lane) में चलना है।



जैसा कि आप लोग को पता होगा कि टेस्ला कंपनी लोन मस्की है जिसमें उन लोग इलेक्ट्रिक कार बनाते हैं और इनकी कीमत 70 लाख से चालू होती है। इस गाड़ी की बहुत सारी खूबियां भी हैं जैसे कि यह गाड़ी खुद ब खुद भी चल सकती है ऑटो पायलट की मदद से

ऑटो पायलट सिस्टम क्या है ?

जैसा कि दोस्तों आप लोगों को पता ही होगा कि ऑटो पायलट आजकल बहुत ट्रेंडिंग में है इसका मतलब यह होता है कि मशीन के द्वारा सेंसस की मदद से बहुत चीजें खुद-ब-खुद कंट्रोल हो जाती हैं। इसमें होता ही है कि कुछ एल्गोरिथ्म या प्रोग्राम सेट कर दिया जाता है और उसके कारण मशीन का सारा काम खुद ब खुद कर देती है।

क्या टेस्ला का ऑटो पायलट सिस्टम सेफ है ?

हां टेस्ला का ऑटो पायलट सिस्टम सेफ है | जैसे कि आप लोग को पता है कि मशीन बहुत ज्यादा एक्यूरेट होती हैं आज के जमाने में तो टेस्ला का दावा है कि यह बहुत हद तक सेफ है। लेकिन फिर भी उन लोगों ने कहा है की ड्राइवर सीट में हमेशा एक व्यक्ति रहेगा ही। अगर ड्राइवर स्टेरिंग व्हील से 10 सेकंड से ऊपर हाथ हटा देगा तो टेस्ला का एक बीप साउंड बजेगा। और अगर 30 सेकंड तक कोई भी जवाब नहीं आया तो गाड़ी खुद-ब-खुद धीमी होती जाएगी और साइड हो कर खुद ब खुद रुक भी जाएगी।

टेस्ला का ऑटोपायलट सिस्टम क्या कर सकता है ?

आप इसमें चाहे तो एक लोकेशन से दूसरे लोकेशन को सेट करने के बाद जब हाईवे या ऐसी जगह में गाड़ी चलाएंगे जिसका एल्गोरिथ्म उनके मैप में होगा तब आपको बस आराम करना है और गाड़ी खुद ब खुद आपको उस जगह पहुंचा देगी

क्या टेस्ला हमको एक जगह से दूसरी जगह खुद से लेकर सकती है?

जी हां टेस्ला का इतना एडवांस सिस्टम है कि वह आपको एक जगह से दूसरी जगह बहुत आसानी से लेकर जा सकती है वह भी बिना ड्राइवर के ऑटो पायलट सिस्टम के मदद से। लेकिन उसके ड्राइवर सीट में हमेशा एक व्यक्ति मौजूद होना चाहिए या उनका कहना है।

क्या टेस्ला खुद से रुक जाती है?

इसमें बहुत सारे सेंसर लगे हैं जो कि हर समय काम करते रहते हैं और पता करते रहते हैं कि अगर कोई सामने से गाड़ी आ रही है तो वह खुद ब खुद अपनी स्पीड को धीमी कर लेते हैं। इसका आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इतना स्ट्रांग है कि यह दूर से ही पता कर लेती है कि कोई आगे गाड़ी है तो नहीं और जैसे-जैसे वह गाड़ी के पास पहुंचती है तो वह खुद से अपनी स्पीड स्लो कर लेती है।

अगर टेस्ला के सामने कोई आ गया तो क्या होगा?

आजकल बहुत लोगों के साथ हाईवे या रोड में एक्सीडेंट होते रहते हैं क्योंकि कई बार कोई जानवर खुद के गाड़ी के सामने आ जाता है लेकिन टेस्ला का सेंसर इतना पावरफुल है और उनका आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम इतना स्ट्रांग है कि वह पता कर लेता है कि कोई सामने तो नहीं आ गया और जैसी कोई सामने आता है तो वह खुद से इमरजेंसी ब्रेक लगा देते हैं । 

क्या टेस्ला को बिना ड्राइवर के मदद से चलाया जा सकता है?

जी हां बिल्ल्कुल टेस्ला कार बिना ड्राइवर के साथ ऑटो पायलट की मदद से चल सकती है | इसमें पहले से एल्गोरिथ्म सेट हैं जो सेंसर का मदद लेकर खुद से गाड़ी को चला सकते हैं वह भी ऑटोमेटिक | आने वाले कुछ सालों में जो ड्राइवर सीट है वह भी ऑटोमेटिक हो जाएगी ऐसा फैसला का मानना है | जैसे कि आप लोग को नीचे एक वीडियो मिलेगी आप उसमें देख सकते हैं कि कैसे बहुत सारे लोग इसका फायदा उठा रहे हैं।

टेस्ला इंडिया में क्यों लांच नहीं हो रही?

टेस्ला एक इलेक्ट्रिक गाड़ी है जिसको चार्ज करने पर ही वह चलती है लेकिन इंडिया में अभी इलेक्ट्रिक फ्यूल स्टेशन बहुत कम है जिसके कारण टेस्ला को हर जगह लेकर जाया नहीं जा सकता इसीलिए पहले कंपनी इलेक्ट्रिक फ्यूल स्टेशन बनाएगी उसके बाद ही कार को पूरे भारत में लांच करेगी।

फ्यूल स्टेशन


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here